Guru Pujan(Guru Purnima)

गुरु पुजन अपवित्रः पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोऽपि वा। यः स्मरेत्पुंडरीकाक्षं स बाह्याभ्यंतरः शुचिः॥ आवाहनम् नारायणं पद्मभवं वसिष्ठं शक्तिं च तत्पुत्रपराशरं च। व्यासं शुकं गौडपदं महान्तं गोविन्दयोगीन्द्रमथास्यशिष्यम्|| श्री शंकराचार्यमथास्य पद्मपादं च हस्तामलकं च शिष्यम्। तं त्रोटकं वार्त्तिककारमन्यान् अस्मतगुरून् सन्ततमानतोस्मि॥ श्रुतिस्मृतिपुराणानां आलयं करुणालयं। नमामि भगवत्पादं शङ्करं लोकशङ्करम्॥ शङ्करं शङ्कराचार्य केशवं बादरायणम्। सूत्रभाष्यकृतौ […]

Guru Purnima 9th July

“गुरु गूंगे गुरू बावरे गुरू के रहिये दास “ एक बार की बात है नारद जी विष्णु भगवानजी से मिलने गए ! भगवान ने उनका बहुत सम्मान किया ! जब नारद जी वापिस गए तो विष्णुजी ने कहा हे लक्ष्मी जिस स्थान पर नारद जी बैठे थे ! उस स्थान […]

Shravan Mas

पूर्णमासी को श्रवण नक्षत्र का योग होने के कारण यह मास श्रावण कहलाता है। श्रावण मास भक्ति के लिए सर्वोत्तम है। इस महीने में जो भी भक्ति भाव के साथ शिवजी की आराधना करता है वह उनकी कृपा प्राप्त करता है। मात्र बिल्व पत्र और जलाभिषेक से इस माह में […]